विश्वस्तरीय बनेंगे प्रदेश के तीन रेलवे स्टेशन

141

अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत हिमाचल प्रदेश के बैजनाथ-पपरोला, पालमपुर और अंब-अंदौरा रेलवे स्टेशनों पर अति आधुनिक सुविधाएं विकसित की जाएंगी।

राज्य सभा सांसद इंदु बाला गोस्वामी ने कहा है कि भारत सरकार रेल मंत्री अश्विनी बैष्णव ने अनौपचारिक बातचीत में उन्हें बताया कि इन स्टेशनों को नवीनतम विश्व स्तरीय सुविधाओं से लैस किया जाएगा, जिसमें रेल यात्रियों को मुफ्त बाई-फाई, मल्टी डिजाइन फर्नीचर, दिव्यांगों की सुविधाओं, एप्रोच रोड़ को चौड़ा करना, उच्च स्तरीय प्लेटफार्म, इंटर कनेक्टिविटी, सुरक्षा, एयर कंडीशनर वेटिंग हॉल, एक्सेलेटर, पेयजल सहित अनेक नई सुविधाएं विकसित की जाएंगी।

इससे पूरे क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जा सकें तथा स्थानीय लोगों को सुविधा के साथ ही हाई एंड /धनाढ्य पर्यटकों को आकर्षित किया जा सके।

Three railway stations state will become world-class

उन्होंने कहा कि इन स्टेशनों की सुविधाओं के विस्तार की संभावनाओं का जायजा लेने के लिए शीघ्र ही रेलवे अधिकारियों का सर्वेक्षण दल दौरा करेगा तथा रेल सुविधाओं में बढ़ोतरी की रिपोर्ट रेलवे मंत्रालय को सौंपेगा, जिसके आधार पर बजट प्रावधान किया जाएगा।

इन स्टेशनों पर नई सुविधाओं के लिए रेलवे कंसलटेंट तैनात करेगा। उन्होंने कहा कि यह सारा काम डेढ़ साल में पूरा कर लिया जाएगा। इन स्टेशनों पर यात्रियों की सुविधा जानने के लिए सर्वेक्षण दल आएगा, स्टेशन पर मौजूदा सुविधाओं का आकलन कर इनमें बढ़ोतरी के लिए रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

हिमाचल प्रदेश में रेल परियोजना के विस्तार के लिए 2023-24 में 1838 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है, जो वर्ष 2009-14 की तुलना में 17 गुना ज्यादा है। साथ ही गोस्वामी ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में भानुपल्ली, बिलासपुर-बेरी रेल परियोजना के लिए 1000 करोड़, चंडीगढ़-बद्दी के लिए 450 करोड़ तथा नंगल-तलवाड़ा रेललाइन के लिए 452 करोड़ का प्रावधान किया गया।

इसके अलावा कालका-शिमला रेललाइन पर हाइड्रोजन ट्रेन के लिए भी 870 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सांसद गोस्वामी ने बताया कि खेल बजट में 400 करोड़ की वृद्धि और प्रधानमंत्री आवास योजना बजट को 66 फीसदी तक बढ़ाया गया।

Related Posts

Leave a Reply