शीतलहर ने जकड़ा हिमाचल, मैदानी इलाकों में धुंध से बिगड़े हालात

43

शिमला : हिमाचल प्रदेश में बारिश न होने से सूखी ठंड ने लोगों का जीना दुश्वार कर दिया है। सुबह-शाम शीतलहर का प्रकोप बढऩे से लोग बीमारी की चपेट में आ रहे है। वहीं, मौसम विभाग ने अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई है।

इस दौरान लाहुल-स्पीति, किन्नौर और चंबा में बारिश के साथ हल्की बर्फबारी हो सकती है। विभाग के अनुसार आगामी 48 घंटे तक मौसम खराब बना रहेगा और इसका असर उच्च और मध्यम ऊंचाई वाले इलाकों में नजर आएगा।

17 जनवरी को लाहुल-स्पीति, किन्नौर और चंबा के साथ ही शिमला, मंडी, सोलन और सिरमौर के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी की संभावना है। इसके साथ ही मौके विभाग ने मैदानी इलाकों में धुंध के अलर्ट को जारी रखा है। प्रदेश के सात जिलों में धुंध बरकरार रहेगी।

यहां वाहन चालकों को सावधानी से वाहन चलाने की सलाह दी गई है, जिन जिलों में धुंध का अलर्ट जारी किया गया है उनमें ऊना, हमीरपुर, बिलासपुर, कांगड़ा, मंडी, सोलन और सिरमौर शामिल है।

ज्यादातर मैदानी भाग में मौसम आगामी 48 घंटे में शुष्क बना रहेगा। हालांकि पर्वतीय क्षेत्रों में जरूर करवट नजर आएगी। मंगलवार को तापमान 22.3 डिग्री सेल्सियस था, जबकि कुकुसमेरी में तापमान माइनस में है। यहां माइनस 9.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया है।

Cold wave grips Himachal

मैदानी इलाकों में धुंध से बिगड़े हालात, बीमारी की चपेट में लोग

बर्फबारी न होने की वजह से प्रदेश के पर्यटन स्थलों का तापमान बढ़ गया है। यहां साफ मौसम की वजह से दिन भर धूप खिल रही है और इसका असर तापमान पर भी देखने को मिल रहा है।

मैदानी इलाकों में धुंध की वजह से तापमान में काफी गिरावट देखने को मिल रही है। पर्यटन स्थलों की बात करें तो सोमवार को शिमला का तापमान 6.4$$,धर्मशाला 6.2, डलहौजी 6.4, मनाली 1.2 और नारकंडा चार डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

ऊना में तापमान -1.8, मंडी -1.5, धौलाकुआं 3.4 डिग्री व पावंटा साहिब 6.5 डिग्री सेल्सियस बर्फबारी न होने की वजह से प्रदेश के पर्यटन स्थलों का तापमान बढ़ गया है। यहां साफ मौसम की वजह से दिन भर धूप खिल रही है और इसका असर तापमान पर भी देखने को मिल रहा है।

मैदानी इलाकों में धुंध की वजह से तापमान में काफी गिरावट देखने को मिल रही है। पर्यटन स्थलों की बात करें तो सोमवार को शिमला का तापमान 6.4$$,धर्मशाला 6.2, डलहौजी 6.4, मनाली 1.2 और नारकंडा चार डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। ऊना में तापमान -1.8, मंडी -1.5, धौलाकुआं 3.4 डिग्री व पावंटा साहिब 6.5 डिग्री सेल्सियस।

ऊना में नौ साल बाद टूटा सर्दी का रिकार्ड

ऊना। गर्मी के साथ सर्दी के लिए भी प्रसिद्ध जिला ऊना में नौ वर्षों के बाद फिर से माइनस में न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। सोमवार को जिला का माइनस1.8 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया।

इससे पहले 2015 में माइनस 1.2 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया था। बता दें कि मौसम विभाग ने रविवार की रात अब तक की सबसे ठंडी रात का रिकार्ड दर्ज किया है।

सुबह के समय जब लोगों ने उठकर अपने आंगन में देखा तो रात में आसमान से पडऩे वाली ओस की जगह पतली बर्फबारी की चादर दिखाई दी। मौसम विभाग के विशेषज्ञ विनोद कुमार शर्मा ने कहा कि जिला ऊना में अभी तक बारिश होने के कोई भी आसार नहीं है

Leave a Reply