राज्य वन सेवा प्रशिक्षुओं का उत्तर भारत का दौरा

राज्य वन सेवा प्रशिक्षण कालेज ;एस. एफ.एस.द्ध, देहरादून से हिमालयी वनस्पति, वन व वन्यप्राणी प्रबन्धन के अध्ययन हेतु, लगभग 40 प्रशिक्षुओं का दल, हिमाचल में शिमला, मनाली, सहित प्रदेश के अन्य स्थानों में, वन प्रबन्धन की बारीकियों का प्रशिक्षण लेने के लिए शिमला पहुँचा। श्री कुनाल सत्यार्थी प्रीन्सीपल ;सैन्ट्रल अकैडमी फाॅर स्टेट फाॅरेस्ट सर्विसीजद्ध़ व श्रीमती सरिता कुमारी ;कोर्स डारेक्टर द्धकी अगुवाई में यह प्रशिक्षु, हिमाचल ,हरियाणा, पंजाब व जम्मू कष्मीर राज्यों के वनों का अध्ययन कर रहे हैं। एस. एफ.एस, देहरादून में वर्ष 2018-20 बैच में चार राज्यों ओड़ीसा, कर्नाटका, छतीसगढ़ तथा मध्य प्रदेश के प्रशिक्षु प्रशिक्षणरत हैं।
आज टालैण्ड शिमला स्थित वन मुख्यालय में इन प्रशिक्षओं को सम्बोधित करते हुए, श्री अजय कुमार, प्रधान मुख्य अरण्यपाल ;हाॅफद्ध हिमाचल प्रदेश ; डाॅ सविता, प्रधान मुख्य अरण्यपाल ;वन्य प्राणी द्ध, श्री अजय श्रीवास्तवा, अतिरिक्त प्रधान मुक्ष्य अरण्यपाल ;वन्य प्राणीद्ध, अनु नागर मुख्य अरण्यपाल ;एच0 आर0 डी0द्ध ने हिमाचल प्रदेश के भौगोलिक क्षेत्र व वनों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। अनु नागर ने वन विभाग हिमाचल के अवलोकन के साथ-साथ वन विभाग की विभिन्न गतिविधियों से प्रशिक्षुओं को अवगत करवाया। डाॅ सविता, प्रधान मुख्य अरण्यपाल ;वन्य प्राणी द्ध -कम- मुख्य वन्य प्राणी संरक्षक ने हिमाचल प्रदेश वन्य प्राणी प्रभाग व प्रदेश के वन्य प्राणी संरक्षित क्षेत्रों की जानकारी साझा करते हुए कहा कि आज, वन विभाग को वन्य प्रणिायों के संरक्षण के साथ-साथ वन्य जीव-मानव संघर्ष जैसी चुनौतियों का सामना भी करना पड़ रहा है। उन्होंने प्रदेश में चल रही बन्दरों की समस्या व बन्दर -नसबन्दी कार्यक्रम की जानकारी भी प्रशिक्षुओं से साझा की। श्री अजय कुमार, प्रधान मुख्य अरण्यपाल ;हाॅफद्ध हिमाचल प्रदेश ने प्रशिक्षुओं को जैव-विविधता, वनों की सुरक्षा, व वन विभाग की विभिन्न गतिविधियों से अवगत करवाते हुए आह्वान किया कि उन्हें अपने-अपने क्षेत्रों की पहचान कर किसी एक विषय में विषेशज्ञता प्राप्त करनी होगी तथा प्रशिक्षु अपने कार्य क्षेत्र में सत्यनिष्ठा के साथ कार्य करें ताकि वन प्रबन्धन में हो रहे निरन्तर बदलावों की आपूर्ति की जा सके।
इस अवसर पर विजय लक्ष्मी तिवारी, प्रधान मुख्य अरण्यपाल ;एम0 एण्ड ई0द्ध राकेश सूद अतिरिक्त प्रधान मुख्य अरण्यपाल ;एडमिनद्ध, के0 एस0 ठाकुर अतिरिक्त प्रधान मुख्य अरण्यपाल;कैम्पाद्ध, आर0के0 गुप्ता, मुख्य अरण्यपाल शिमला, नागेश गुलेरिया, मुख्य अरण्यपाल, ;एम0 एण्ड ई0द्ध भी उपस्थित थे व उन्होंने सभी प्रशिक्षुओं को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभ कामनाएं दी।

वन मण्डल अधिकारी
प्रचार वन मण्डल,शिमला

Comments

comments

Leave a Reply