कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर में फंसी नौकरियों पर 15 दिन में आएगा फैसला

78

शिमला : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा है कि सभी विभागों के भर्ती नियमों को लेकर अफसरों को निर्देश दे दिए गए हैं, जो रूल संशोधित करने हैं, वह करें। मुझे एक बड़ी हैरान करने वाली बात पता चली है।

बाहर से आने वाली वोल्वो बसों को रोकने के लिए जब परिवहन विभाग से पूछा गया, तो जवाब आया कि इनको रोकने के लिए कोई रूल ही नहीं है। हम किस का चालान करें। मैंने ट्रांसपोर्ट सचिव को कहा कि आप रूल लाइए। यह हाल पिछली सरकार की गवर्नेंस का था।

उन्होंने भर्तियों के मामले में कोई रिजल्ट नहीं निकाले, जो निकले, उनको नौकरियां नहीं मिलीं। हम रोजगार सुनिश्चित करेंगे और यह समयबद्ध होगा। सीएम ने कहा कि हमीरपुर कर्मचारी चयन आयोग में जो पेपर लीक का मामला मिला है, वह भी पुरानी बीमारी है।

इसीलिए आयोग को सस्पेंड किया गया। वहां जिन बच्चों की नौकरियां फंसी हैं, उनको इसी महीने सेटल करेंगे। 15 दिन में इस बारे में फैसला हो जाएगा।

भाजपा ने जो करना है, कर ले
मुख्यमंत्री से जब पूछा गया कि आपकी सरकार को भाजपा के मिशन लोटस से कितना डर है, तो उन्होंने कहा कि यहां सब खुला है। भाजपा ने जो करना है, करे। इन बातों से कुछ नहीं होने वाला।

अभी काम पर फोकस करेंगे। हमारा परीक्षा परिणाम पांच साल बाद आता है। हमने उन लोगों तक पहुंचना है, जिन्हें अभी तक हमारी जरूरत है। मेरे स्वभाव में काम करना लिखा है। धीरे-धीरे सारी टीम को इसकी आदत पड़ जाएगी।

Leave a Reply