एक जनवरी को होने वाली परीक्षा का प्रश्न पत्र भी बरामद, अब तक 7.90 लाख नकदी कब्जे में

38

विजिलेंस ने कर्मचारी चयन आयोग की महिला कर्मचारी के ससुराल के घर से पहली जनवरी को होने वाली परीक्षा का प्रश्न पत्र भी बरामद किया है। विजिलेंस की टीम ने जेओए आईटी पोस्ट कोड 965 का पेपर बेचने के अरोप में गिरफ्तार की गई कर्मचारी चयन आयोग की महिला कर्मचारी के ससुराल के घर से विजिलेंस ने लाखों रुपए की नकदी के साथ तीन प्रश्न पत्र भी बरामद किए हैं।

इनमें तीन पेपरों में जेओए आईटी पोस्ट कोड 965 के पेपर के अलावा दो और प्रश्न पत्र मिले हैं। इन दो प्रश्न पत्रों में एक पेपर की परीक्षा पहली जनवरी होनी थी, जबकि दूसरे पेपर की परीक्षा की तिथि अभी तय होने थी। विजिलेंस पता लगा रहा है कि महिला ने सीक्रेसी ब्रांच से कौन-कौन सी परीक्षा के पेपर लीक किए है और कहां पर बेचे हैं।

विजिलेंस ने आरोपियों से अब तक सात लाख 90 हजार 500 रुपए की राशि बरामद की है। इसके अलावा आरोपी महिला के घर कई अहम दस्तावेज और अहम साक्ष्य भी बरामद किए हैं। एएसपी विजिलेंस हमीरपुर रेणू शर्मा मामले की जांच कर रही हैं।

विजिलेंस की जांच अभी और भी कई अहम खुलासे हो सकते हैं। इसके अलावा चयन आयोग के अन्य अधिकारी भी जांच के दायरे में आ सकते हैं। विजिलेंस की जांच अभी जारी है, पेपर लीक मामले में अभी और गिरफ्तारियां भी हो सकती हैं।

कल मुख्यमंत्री से मिलेंगे अभ्यर्थी

पेपर लीक मामले के संदर्भ में जेएओए आईटी के अभ्यर्थी 27 दिसंबर को शिमला में मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू से मिलेंगे। अभ्यर्थियों में भ्रम फैल गया है कि सरकार पिछली भर्तियों को रद्द कर सकती है।

अभ्यर्थी मुख्यमंत्री से पुरानी भर्तियों को रद्द न करने के लिए अनुरोध करेंगे। अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि पेपर लीक मामले में शामिल अभ्यर्थियों की उम्मीदवारी रद्द करें, भर्तियों को नहीं।

यह भी पढ़ें :

Leave a Reply