बर्फबारी से मनाली-लेह और दारचा-शिंकुला दर्रा यातायात के लिए बंद, सैकड़ों वाहन फंसे

170

शिमला : हिमाचल प्रदेश में भी मौसम में बदलाव आया है। शुक्रवार रात को हुई ताजा बर्फबारी से मनाली-लेह मार्ग और दारचा-शिंकुला दर्रा यातायात के लिए बंद हो गया है।

ऐसे में शनिवार को लेह की तरफ से वाहनों को मनाली की तरफ नहीं भेजा जा रहा है। पिछली देर रात को बारालाचा और जिंगजिंगार में गाड़ियां फंस गई थीं उन्हें निकाला जा रहा है। करीब 500 से 600 वाहन फंसे हैं।

उधर, उदयपुर से करीब छह किमी दूर घाटी के दुर्गम क्षेत्र मयाड़ घाटी के भिंगी नाला में शुक्रवार देर रात्रि हिमखंड सड़क पर आ गिरा है।

इससे मयाड़ घाटी का तिंगरेट और चिमरेट दो पंचायत के लोगों का उपमंडल उदयपुर से संपर्क टूट गया है। इसी प्रकार आंधी-तूफान से शिमला, सिरमौर, सोलन व अन्य जिलों में लोगों के घरों व सडकों पर पेड़ गिर गए हैं।

खेतों में फसलें बिछ गई हैं। वहीं बारिश व ओलावृष्टि के कारण कई क्षेत्रों में भू-स्खलन की घटनाएं हुई हैं। भू-स्खलन के कारण काफी ज्यादा नुकसान प्रदेश के लोगों को हुआ है।

चंबा में किलाड़-कुल्लू मार्ग पर सिद्धनाला में भारी बारिश में कई वाहन नाले में फंस गए। नकरोड़ के पास भारी बारिश से सडक पर मलबा गिरने से चंबा-तीसा मार्ग बाधित रहा।

सूचना के बाद लोक निर्माण विभाग की मशीनरी मौके पर पहुंच गई है और सड़क से हिमखंड को हटाने का काम शुरू कर दिया है।

बीआरओ भी हाईवे तीन को चैड़ा करने के लिए सड़क के किनारों से बर्फ हटाने में जुटा है। इसके अलावा लाहौल और स्पीति में ताजा बर्फबारी हुई है।

Leave a Reply