गोबिंद सागर झील में विदेशी परिंदों की गिनती और प्रजातियों की पहचान के लिए होगा सर्वेक्षण

72

हिमाचल प्रदेश में पहली बार गोबिंद सागर झील में हर साल आने वाले विदेशी मेहमानों की गिनती और प्रजातियों की पहचान के लिए सर्वेक्षण किया जाएगा। यह सर्वे वन विभाग के सहयोग से वैटलैंडस इंटरनेशनल साउथ एशिया और बांबे नेचुरल हिस्ट्री सोसाईटी नामक एजैंसियां करेंगी।

इसमें कॉलेज के छात्र व स्थानीय प्रबुद्धवर्ग को भी शुमार किया गया है। सर्वेक्षण से पहले बिलासपुर में कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें विभिन्न मसलों पर चर्चा हुई।

बताया जा रहा है कि सर्वेक्षण कार्य के लिए 30 एक्सपर्ट की टीम तैयार की गई हैं। यह टीम पांच घंटे की अवधि में सर्वे रिपोर्ट तैयार करेंगी।

झील में पांच मोटरबोट के माध्यम से यह कार्य किया जाएगा और हर मोटरबोट पर 6-6 एक्सपर्ट सवार होंगे। इन एक्सपर्ट के साथ 2-2 विभागीय एक्सपर्ट भी कैमरा व अन्य सुविधाओं से सुसज्जित होंगे।

सभी मोटरबोटें गोबिंदसागर झील में अलग अलग दिशाओं में जाकर सर्वे कार्य करेंगी। इसके तहत विदेशी परिंदों की गिनती करने के अलावा इनकी प्रजाति की पहचान की जाएगी और इस पर एक विस्तृत रिपोर्ट बनेगी जिसे केंद्र सरकार को प्रेषित किया जाएगा।

वैटलैंडस इंटरनेशनल साउथ एशिया एजैंसी की जूनियर टैक्रिकल ऑफिसर अपूर्वा थापा ने बताया कि अभी तीन दिन पहले पौंगडैम में सर्वे किया गया है।

गोबिंदसागर झील में आज तक कभी भी सर्वे नहीं हुआ था जिसके चलते इस बार बिलासपुर में सर्वेक्षण करने का निर्णय हुआ और योजना की पूरी रूपरेखा तैयार की गई है।

इसके तहत माईग्रेटर पक्षियों की पहचान कर सही आंकड़े का पता लगाने की कोशिश की जाएगी।

Leave a Reply