कालका-शिमला एनएच पर कथेड़ में बनेगा पहला क्रिटिकल केयर सेंटर

108

कालका-शिमला नेशनल हाईवे पांच पर कथेड़ में पहला क्रिटिकल केयर सेंटर बनाया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने कथेड़ में नवनिर्मित क्षेत्रीय अस्पताल के साथ जगह का चयन कर लिया है।

सेंटर में अलग से लेबोरेटरी भी तैयार की जाएगी। इससे आपातस्थिति में टेस्टिंग भी प्रभावित नहीं होगी। इस कार्य को करने के लिए चीफ आर्किटेक्ट शिमला को जल्द जगह को देखकर नक्शा तैयार करने के लिए भी कहा गया है।

इसी के साथ क्रिटिकल केयर सेंटर का भवन तैयार करने के लिए आंकलन करने को भी कहा है ताकि जल्द इस पर अनुमति लेकर कार्य शुरू करवाया जा सके।

बताया जा रहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की निर्देशों के अनुसार क्रिटिकल केयर सेंटर को तैयार किया जाएगा। इसमें ऑक्सीजन समेत अन्य आवश्यक उपकरणों की भी सुविधा मिल सकेगी।

यह वार्ड कोरोना जैसी महामारी में अधिक काम आएगा और मरीजों को महामारी के दौरान परेशान नहीं होना पड़ेगा।

कालका-शिमला हाईवे पर अभी ऐसा कोई सेंटर नहीं

अभी तक कालका-शिमला हाईवे पर ऐसा कोई सेंटर नहीं है जहां पर मरीजों को अन्य से अलग रखा जा सके। इससे मरीजों को अधिक परेशानी आती थी। गौर रहे कि एनएच पांच पर शहर के साथ लगते कथेड़ में क्षेत्रीय अस्पताल का निर्माण कार्य चला हुआ है।

first-critical-care-center-be-built-at-kathed-on-kalka-shimla-nh

भवन निर्माण के दौरान 1.5 बीघा जमीन निर्धारित ड्राइंग में बच गई है। अब इस भूमि का चयन क्रिटिकल केयर वार्ड के लिए किया गया है। बताया जा रहा है कि यह भवन पांच मंजिला होगा।

इसमें अत्याधुनिक सुविधाएं मरीजों को देने का प्रस्ताव स्वास्थ्य महकमे ने तैयार किया है। खास बात यह है कि इस भवन के तैयार होने के बाद अगर कोरोना जैसी महामारी भविष्य में आती है तो मरीजों के उपचार के लिए अन्य वार्डों को खाली करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

कोरोना महामारी के दौरान आपातस्थिति में अस्पतालों के कई वार्डों को कोरोना वार्ड में बदला गया था। इससे अन्य मरीजों के इलाज में काफी दिक्कतें आई थी।

स्वास्थ्य मंत्री भी कर चुके निरीक्षण

स्वास्थ्य मंत्री कर्नल डॉ. धनीराम शांडिल ने भी हाल ही में कथेड़ में बन रहे अस्पताल का निरीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने भी अस्पताल प्रशासन को क्रिटिकल केयर सेंटर से संबंधित कई प्रकार के दिशा-निर्देश दिए थे और ड्राइंग के बाहर की भूमि को प्रयोग करने के लिए कहा था।

इसके बाद अस्पताल प्रशासन के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एसएल वर्मा, संजीव काशिव और गौरव ठाकुर ने तुरंत पांच मंजिला सेंटर के साथ लैब तैयार करने का प्रस्ताव चीफ आर्किटेक्ट को दिया।

बताया जा रहा कि आगामी दिनों में टीम मौके का मुआयना कर नक्शा तैयार करेगी। वहीं लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता को प्लान भेजने के लिए भी कहा है। इसके लिए विभाग को पत्र आ गया है।

कथेड़ में नवनिर्मित क्षेत्रीय अस्पताल के साथ क्रिटिकल केयर सेंटर तैयार किया जाएगा। इसके लिए चीफ आर्किटेक्ट शिमला के साथ संपर्क कर लिया गया है और प्रस्ताव दे दिया गया है। यह सेंटर पांच मंजिला होगा।

इसमें आधुनिक सुविधाएं होंगी। इस भवन में अलग से लैब भी तैयार की जाएगी। इन सभी के लिए जगह का चयन हो गया है। करीब 1.5 बीघा जमीन पर यह सेंटर बनेगा।

 

Related Posts

Leave a Reply