प्रदेश के 2 निजी स्कूलों ने 2 महीने की फीस माफ़ कर पेश की मिसाल

मंडी : कोरोना वायरस के खतरे की वजह से देश भर में चल रहे लॉकडाउन से पेश आ रही दिक्कतों से लोगों को बचाने के लिए सरकारों द्वारा कई तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। लॉकडाउन की वजह से लोगों की आर्थिकी भी बुरी तरह से प्रभावित हुई है। जिसका असर लोगों जीवन यापन से लेकर बच्चों की पढ़ाई तक भी देखा जा रहा है। इसलिए लॉकडाउन के दौरान अभिभावकों के सिर पर स्कूल की एडमिशन व स्कूल फीस का भार न पडे़ इस हेतु प्रदेश सरकार ने सूबे के सभी निजी स्कूलों को अभिभावकों से फीस न लेने आदेश जारी किए हैं।

गुरुकुल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल

मंडी जिला के एक छोटे से कस्बे के एक निजी स्कूल ने इससे भी आगे निकलते हुए एक मिसाल पेश कर दिखाई है। मंडी जिला के कोटली क्षेत्र के गुरूकुल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी फागला ने तो सरकार से भी दो कदम आगे निकलते हुए अपने स्कूल में पढ़ने वाले सभी बच्चों की दो महीने की फीस ही माफ कर दी है। दोनों स्कूलों के इस स्वागत योग्य्ग कदम से पूरे प्रदेश में सराहना हो रही है.

कोटली क्षेत्र का है स्कूल

सरकार के इन आदेशों का निजी स्कूलों द्वारा भी बेशक पूरी तरह न सही लेकिन पालन किया जा रहा है। वहीं मंडी जिला के एक छोटे से कस्बे के एक निजी स्कूल ने इससे भी आगे निकलते हुए एक मिसाल पेश कर दिखाई है। मंडी जिला के कोटली क्षेत्र के गुरूकुल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी फागला ने तो सरकार से भी दो कदम आगे निकलते हुए अपने स्कूल में पढ़ने वाले सभी बच्चों की दो महींने की फीस ही माफ कर दी है।

समोट स्कूल में भी माफ़ की फीस

इस समिति द्वारा एक स्कूल चंबा में भारतीय पब्लिक स्कूल समोट के नाम से भी चलाया जाता है। स्कूल प्रबंधन समिति ने इन दोनों कैंपस में पढ़ने वाले सभी बच्चों की दो महीने की फीस माफ कर दी है। दोनों स्कूलों की दो महीने की फीस दस लाख रुपये के आसपास बनती है। स्कूल प्रबंधन ने सभी अभिभावकों को 14 अप्रैल को नोटिस जारी करते हुए कहा कि स्कूल में पढ़ रहे सभी बच्चों की अप्रैल और मई महीने की फीस माफ की जा रही है।

समायोजित की जाएगी पहले जमा की गई फीस

स्कूल प्रबंधन ने यह भी कहा कि जो अभिभावक फीस पहले ही जमा करवा चुके हैं, उसे अगले महीने की फीस के रूप में समायोजित कर दिया जाएगा। बच्चों की पढ़ाई का नुकसान न हो इसलिए स्कूल प्रबंधन ने अभिभावकों को गूगल प्ले स्टोर से स्कूल का एप डाउनलोड करने के लिए भी कहा है, ताकि बच्चे घर पर ही ऑन लाइन पढ़ाई कर सके।

कर्मचारियों को मिलेगा वेतन

स्कूल के एमडी पुरेंद्र राणा ने बताया कि समिति द्वारा एक स्कूल कोटली में और एक स्कूल चंबा समोट में चलाया जा रहा है। दोनों ही कैंपस के बच्चों से अप्रैल व मई की फीस नहीं ली जाएगी। जबकि स्कूल के कर्मचारियों को दोनों महींने पूरा वेतन दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह निर्णय स्कूल में पहले से पढ़ रहे बच्चों के साथ ही उन बच्चों के लिए भी है, जिन्होंने स्कूल में नई एडमिशन ली है। वहीं स्कूल के इस निर्णय का कोटली क्षेत्र के अभिभावकों ने स्वागत किया है।

Comments

comments

Leave a Reply