हिमाचल प्रदेश में 5 बेहतरीन पैराग्लाइडिंग साइट

हिमाचल प्रदेश भारत का एक बहुत ही सुंदर पहाड़ी प्रदेश है। यहाँ के बर्फ से ढके आसमान छूते पर्वत, सुंदर हरी-भरी घाटियां, साफ चमकदार कल-कल बहती नदियां और झरने, साफ आवो-हवा यहाँ आने वाले सैलानियों का मन मोह लेते हैं। इसमें कोई संदेह नहीं कि इस खूबसूरत प्रदेश में आने वाला हर मेहमान सैलानी यहाँ से लौट जाने के बाद भी यहीं का होकर रह जाता है।

हिमाचल प्रदेश में बेहतरीन 5 पैराग्लाइडिंग साइट

हिमाचल में पर्यटकों के लिए बहुत कुछ है। रोमांचक और साहसिक खेलों के प्रेमियों के लिए यह प्रदेश स्वर्ग के समान है। हिमाचल प्रदेश पर्वतारोहण, आइस स्केटिंग, ऊबड़-खाबड़ रस्तों में ड्राइव रेसिंग, उफनती नदियों में राफ्टिंग, फिशिंग, जंगली सफारी, सितारों भरे आसमान के नीचे कैंपिंग, बोन फायर आदि गतिविधियों के लिए आदर्श है।

इन सबसे अलग एक ऐसा भी खेल है जो अपने आप में अनूठा है। यह है आसमान में उड़ने का खेल। मानव इतिहास गवाह है कि मनुष्य हमेशा से ही स्वछंद परिंदों की भांति आसमान को नापने की चाह रखता आया है। हिमाचल की भौगोलिक परिस्थितियाँ मनुष्य की इस कल्पना उड़ान को पंख देती है।

हम बात कर रहे हैं मानव परिंदों के खेल पैराग्लाइडिंग की। हिमाचल के कुछ स्थान पैराग्लाइडिंग के लिए विश्व के मानचित्र में खास जगह रखते हैं। हिमाचल प्रदेश की इसी खासियत के कारण हिमाचल में पैराग्लाइडिंग प्री-वर्ल्ड कप के कई आयोजन हो चुके हैं।

इस लेख में हम हिमाचल प्रदेश के चुनिन्दा 5 स्थलों के बारे मे चर्चा करेंगे जो पैराग्लाइडिंग के लिए बहुत ही उपयुक्त हैं।

बीड़-बिलिंग – सबसे बेहतरीन पैराग्लाइडिंग साइट

हिमाचल प्रदेश के सबसे अधिक जनसंख्या वाले जिले के शिखर पर बिलिंग नाम की जगह है। पैराग्लाइडिंग के लिए यह जगह इतनी उपयुक्त और विश्व भर में विख्यात है कि यहां पर लगभग हर साल पैराग्लाइडिंग के प्री-वर्ल्ड मुक़ाबले आयोजित किए जाते हैं। यहाँ तक पहुँचने के लिए बीड़ नाम के कस्बे से होकर सड़क जाती है।

बिलिंग की टेक ऑफ साइट से कांगड़ा और मंडी के सुदूर इलाकों का विहंगम नज़ारा देखा जा सकता है। बिलिंग से टेक ऑफ के बाद मानव परिंदे बीड़ के चौगान में लैंड करते हैं। बीड़-बिलिंग लगभग पूरे साल उड़ने के शौकीनों से गुलजार रहता है जिससे स्थानीय पर्यटन व्यवसाय खूब फल-फूल रहा है।

मनाली की पैराग्लाइडिंग साइटस

मनाली पर्यटन की दृष्टि से हिमाचल प्रदेश का सर्वश्रेष्ठ स्थान तो है ही साथ ही पैराग्लाइडिंग के एक उत्कृष्ट स्थल है। मनाली से 14 किलोमीटर दूर सोलंग नाला और 35 किलोमीटर दूर मढ़ी में पैराग्लाइडिंग की उम्दा साइट्स हैं। हालांकि यहाँ पर उड़ान बहुत लंबी नहीं होतीं लेकिन रोमांच के प्रेमियों के बीच ये स्थान बहुत लोकप्रिय हैं। इसका कारण है मनाली घाटी की खूबसूरती और इसे मानव परिंदे बन कर आसमान से निहारने का सुख अद्वितीय ही है।

तो अगली बार मनाली जाएँ तो पैराग्लाइडिंग की एक उड़ान जरूर भरें, खासकर मढ़ी से जो कि रोहतांग पास से पहले का अंतिम पड़ाव और बहुत खूबसूरत लोकेशन में स्थित है।

बिजली महादेव कुल्लू

बिजली महादेव कुल्लू घाटी का बहुत दर्शनीय स्थल है। ब्यास नदी के पूर्वी छोर पर कुल्लू से 20 कीलिमेटर दूर यह स्थान धार्मिक पर्यटन का प्रमुख स्थल है। माना जाता है कि यहाँ पर स्थित महादेव के शिवलिंग पर हर साल आसमानी बिजली गिरती है जिसके बाद यह शिवलिंग दो भागों में बंट जाता है जिसे मक्खन से जोड़ा जाता है।

बिजली महादेव से कुल्लू घाटी का मनोरम और विहंगम दृश्य देखा जा सकता है। यहाँ पर पैराग्लाइडिंग के लिए विशिष्ट स्थान हैं जहां से उड़ान भर कर मानव परिंदे कुल्लू के भुंतर में लैंड कर सकते हैं। हालांकि इस स्थान तक पहुँचने के लिए 3 किलोमीटर का पैदल ट्रेक चढ़ना पड़ता है।

बांदला रेंज बिलासपुर

बिलासपुर के बांदला में पैराग्लाइडिंग की बेहतरीन साइट उपलब्ध है। सतलुज नदी पर बने गोविंद सागर बांध की घाटियों पर स्थित यह स्थान पैराग्लाइडिंग प्रेमियों के लिए बहुत ही उपयुक्त स्थान है जहां से उड़ान भर कर मानव परिंदे बांध की खूबसूरती को आसमान से निहार सकते हैं।

इस स्थान की विशेषता यह है कि यह सैलानियों के लिए सुगम है और यहाँ सड़क मार्ग से जल्दी से पहुंचा जा सकता है। चंडीगढ़ से महज 3-4 घंटों की यात्रा है।

कोठी-पलचान

मनाली से समीप यह स्थान भी रोहतांग पास के मार्ग पर स्थित है और यहाँ से मनाली घाटी की सुंदरता का नजदीकी से आनंद लिया जा सकता है। मनाली आने वाले सैलानियों के लिए सोलंग, कोठी, पलचान और मढ़ी पैराग्लाइडिंग के शौकीनों के लिए उपयुक्त स्थल हैं।

Comments

comments

Leave a Reply