अब 2 हज़ार रुपए में लें टेंडम उड़ान का मज़ा

बिलिंग : पैराग्लाइडिंग के लिए विश्व प्रसिद्ध बिलिंग घाटी में टेंडम उड़ान भरने वाले पर्यटकों से अब कोई भी मनमाने पैसे नहीं वसूल पाएगा। निर्धारित किए गए दामों से अगर किसी भी टेंडम करवाने वाले पायलट ने मनमाने पैसे वसूल किए, तो उस पर कठोर कदम उठाए जाएंगे। इसी को लेकर पैराग्लाइडिंग पायलट यूनियन की बैठक अध्यक्ष कुलदीप ठाकुर की अध्यक्षता में चौगान में हुई। बैठक में कुलदीप ठाकुर, ज्योति ठाकुर, विनय ठाकुर, कमल ठाकुर, प्रवीण कुमार, मनजीत ठाकुर, जतिन, देशराज, सुरेश ठाकुर, राज कुमार, अरविंद पाल, विनय ठाकुर जैसे दर्जनों पायलटों ने भाग लिया।

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि अब बिलिंग से टेंडम  उड़ान करवाने के लिए प्रति उड़ान 2000 लिए जाएंगे। अगर किसी पर्यटक को टेंडम उड़ान के दौरान अपना वीडियो बनाना हो, तो उससे 500 अतिरिक्त लिए जाएंगे। कुल 2500 रुपए लिए जाएंगे।

उसके बदले में उसको जो बनाया गया वीडियो है, वह अपलोड करके दिया जाएगा। इसमें पर्यटकों को यह सुविधा दी गई है कि वह अपने वाहन के साथ पैराग्लाइडिंग की लैंडिंग साइट कयोर, चौगान या बीड़ में आने के बाद, वहीं से उनको बिलिंग ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था भी टेंडम उड़ान करवाने वाले पायलट ही करेंगे।

गौर हो कि इस समय 200 के करीब पंजीकृत पायलट बिलिंग से टेंडम उड़ाने करवाते हैं। यह निर्णय पैराग्लाइडिंग पायलटों ने इस मकसद से उठाया की कुछ सालों से शिकायतें आ रही थीं कि कुछ मनचले पायलट बाहरी राज्यों से आने वाले पर्यटकों से मनमाने दाम वसूल करते हैं, जिससे यह घाटी बदनाम हो रही थी।

 

 

 

 

 

 

 

 

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि जो भी पैराग्लाइडर पायलट नशा करता पाया गया या कोई गलत हरकत उसने की तो उसके विरुद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पैराग्लाइडिंग पायलट यूनियन का मानना है कि इस घाटी को किसी भी तरह से बदनाम नहीं करने दिया जाएगा।

पिछले कुछ सालों से कुछ मनचले पायलटों के कारण घटिया हरकत करनेएनशा खोरी करने के मामले उज़ागर हुये थे जिस के चलते यह घाटी बदनाम भी हुई थी। उसी को लेकर प्रशासन के आदेशानुसार  स्थानीय   बरिष्ठ पायलटों की  एक आर्गेनाइजिंग कमेटी का गठन किया गया था। उस कमेटी को यह अधिकार दिए गए थे कि वह यह सुनिश्चित करें कि कोई भी पायलट खराब मौसम में उड़ान न भरे। उसके पास उड़ान भरने का लाइसेंस होना चाहिए।

यह भी सुनिश्चित किया गया था कि बिलिंग से उड़ान भरती वार एयर ट्रैफिक रूल को भी देखें कि बिलिंग में  ज्यादा भीड़ होने पर एकाएक पायलट बिलिंग से उड़ान न  भरें। उनको क्रमबद्ध तरीके से उड़ने दिया जाए और कोई भी पायलट किसी पर्यटक से बदतमीजी न कर और अगर कोई नशाखोरी करता पकड़ा गया या उसका पैराग्लाइडर खराब हुआ तो उसे उड़ान भरने से रोका भी जा सकता है, परंतु न जाने क्या कारण थे कि वह कमेटी बंद कर दी गई।

इन पायलटों का प्रशासन से आग्रह किया गया है कि पुनः उस कमेटी का गठन किया जाए, जो यह सुनिश्चित करें कि यह सभी रूल माने और यह कमेटी सुनिश्चित करें, ताकि किसी भी तरह का कोई हादसा बिलिंग से उड़ान भरने पर घटित न हो, क्योंकि दिन-प्रतिदिन बिलिंग आने वाले पर्यटकों में इजाफा हो रहा है।

Comments

comments

Leave a Reply