मारकंडा नदी में डूबा युवक; पुलिस ने परिजनों को सौंपा शव, ज‍ानिए हादसे की वजह

48

लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं, जिस कारण आसपास के क्षेत्रों में भय का माहौल है। भारी बारिश के चलते इन दिनों नदी-नालों का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रशासन द्वारा बार-बार लोगों को नदी-नालों के किनारे न जाने की हिदायत दी जा रही है। बावजूद इसके कुछ युवक अपनी जान की परवाह किए बिना उफनते खड्डों और नदियों की ओर जा रहे हैं।

ऐसा ही एक ओर मामला जिला सिरमौर के मुख्यालय नाहन क्षेत्र में पेश आया है। यहां एक युवक की मारकंडा नदी में डूबने से मौत हो गई है। चंद दिनों में मारकंडा नदी में यह चौथी घटना सामने आई है।

कुछ दिन पूर्व भी यहां एक 24 वर्षीय युवक की डूबने से मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक मंगलवार शाम यह घटना उस वक्त सामने आई जब एक 23 वर्षीय युवक मंगल सिंह पुत्र मदन लाल निवासी गांव रुकड़ी ग्राम पंचायत सतीवाला मारकंडा नदी के बीच से क्रॉस हो रहा था।

इसी बीच वह पानी में डूब गया। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंच कर कड़ी मशक्कत के बाद शव को बरामद कर लिया गया।

पुलिस अधीक्षक सिरमौर ओमापति जम्वाल ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

यह है हादसों का कारण

नाहन के समीप मारकंडा नदी में नहाने लोग उतरते हैं, लेकिन कई हादसे का शिकार हो जाते हैं। नदी में कई जगह पर गहरे कुंड बने हुए हैं। युवाओं तथा कुछ लोगों को इन कुंडों के बारे में जानकारी नहीं होती।

जिस कारण लोग नहाते हुए इन गहरे कुंडों के पानी के बाहव में चले जाते हैं। कुंड का पानी लोगों को अपनी तरफ अंदर को खींच लेता है। जब तक प्राण नहीं निकल जाते तब तक इन कुंडों की गहराई से बाहर नहीं निकला जा सकता।

Leave a Reply