हिमाचल के चार जिलों में बर्फीले तूफान-ओलावृष्टि का अलर्ट ज़ारी

79

हिमाचल प्रदेश में सोमवार से मौसम फिर बदलने वाला है। मौसम विज्ञान केंद्र ने प्रदेश के चार जिलों में सोमवार को तूफान व ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग ने कश्मीर के आठ और हिमाचल प्रदेश के चार जिलों में अगले 24 घंटे में बर्फीले तूफान का अलर्ट जारी किया है।

ऐसे में लोगों सतर्क रहने की सलाह दी गई हैं। वहीं, मंगलवार यानी 24 जनवरी को प्रदेश में भारी बारिश व बर्फबारी का अलर्ट हैं। यह अलर्ट शिमला, मंडी, चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, किन्नौर और लाहुल-स्पीति जिला के लिए जारी किया है।

भारी बारिश व बर्फबारी को देखते हुए स्थानीय लोगों व पर्यटकों के लिए एडवाइजरी भी जारी की गई है। ट्रैकिंग पर जाने वाले पर्यटकों को ट्रैकिंग नहीं करने की सलाह दी गई है।

यह एडवाइजरी सुरक्षा को ध्यान में रखकर जारी की गई है। लोगों को सुबह-शाम ठंड से बचने की सलाह दी गई है। बर्फबारी को देखते हुए लोगों को बिजली-पानी और संचार व्यवस्था की सुविधा की उचित व्यवस्था करने की हिदायत दी गई है।

ठंड और बर्फबारी के चलते विजिबिलिटी की कम संभावनाओं को देखते हुए लोगों को गाड़ी चलाते समय जरूरी एहतियात बरतने की सलाह दी गई है।

हिमाचल प्रदेश के चार जिलों में खतरे की आशंका जताई गई है। स्नो एंड एवलांच स्टडी एस्टेब्लिशमेंट मनाली ने चेतावनी जारी करते हुए कुल्लू, लाहुल-स्पीति, चंबा के पांगी और किन्नौर जिला में हिमखंड गिरने की आशंका जताई है।

ऐसे में सैलानियों और आम लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। नो एंड एवलांच स्टडी एस्टेब्लिशमेंट मनाली की ओर से जारी चेतावनी के अनुसार, जिला कुल्लू के नेहरू कुंड, कुलंग, पलचान, कोठी, रोहतांग पास, सोलंगनाला, धुंधी, व्यासकुंड, साउथ पोर्टल और बंजार, आनी उपमंडल को आपस में जोडऩे वाले जलोड़ी दर्रा में पहाडिय़ों से हिम-स्खलन होने का खतरा है।

प्रदेश में 223 सडकें अभी भी बंद हैं। इन सडक़ों के बंद होने के कारण प्रदेश के सैकड़ों गांव-कस्बों के लिए संपर्क अभी भी कटा हुआ है। एचआरटीसी के सैकड़ों रूट प्रभावित हैं। लोगों को आने-जाने में दिक्कतें आ रही हैं।

खासकर बीमार लोगों को अस्पताल ले जाना मुश्किल हो गया है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में सबसे ज्यादा सडक़ें लाहुल-स्पीति जिला में बंद हैं।

लाहुल-स्पीति जिला में कुल 162 सडक़ें बंद हैं। लाहुल-स्पीति के बाद कुल्लू जिला में सबसे ज्यादा 30 सडक़ें, किन्नौर में नौ , शिमला में 32, मंडी में दस, चंबा में आठ और कांगड़ा जिला में दो सडक़ें बंद हैं। सडक़ों के अलावा प्रदेश में 20 ट्रांसफार्मर भी बंद हैं।

Leave a Reply