हिमाचल में 3 दिन से रुक-रुककर बारिश-बर्फबारी से शीतलहर

110
शिमला. हिमाचल प्रदेश में बीते तीन दिन से बारिश बर्फबारी का दौर देखने को मिला है. ऊंचाई वाले इलाकों में जहां बर्फबारी हुई है. वहीं, मध्य पर्वतीय और मैदानी इलाकों में बारिश और तेज हवा चली है. लगातार बारिश बर्फबारी से सूबे में तापमान गिरा है और एक बार फिर से ठंड लौट आई है. बारिश और बर्फबारी से लोगों को गर्मी से राहत मिली है.

शनिवार को भी शिमला, मंडी, मनाली सहित कई इलाकों में बादल छाए हुए हैं. मनाली से आगे अटल टनल और लाहौल में बर्फबारी हुई है. लगातार बर्फबारी से लाहौल में पारा लुढ़का है और यहां पर सैलानियों की आवाजाही भी प्रभावित हुई है.

मौसम विभाग के अनुसार, हिमाचल में 21 मार्च तक मौसम खराब रहेगा और दस जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है. ऊना में बारिश नहीं होने से गर्मी और पारा चढ़ा है.

इससे पहले, शुक्रवार को अटल टनल और लाहौल में बर्फबारी के चलते बड़ी संख्या में सैलानियों के वाहन फंस गए थे. शुक्रवार को अटल टनल रोहतांग से सिस्सु की ओर करीब 1907 वाहनों की आवाजाही हुई.

इस दौरान अटल टनल के उत्तरी और दक्षिणी छोर में दोपहर तीन बजे हल्की बर्फबारी होने से सड़कों पर फिसलन हो गई और वाहनों को वापस भेजा गया.

लाहौल पुलिस के अनुसार, अटल टनल के अन्दर ढाई किमी जाम लग गया था. अटल टनल की सुरक्षा में कार्यरत पुलिस जवानों ने एक घंटे की कड़ी मेहनत के बाद जाम खुलवाया और वाहनों को मनाली भेजा.

शनिवार को मनाली में न्यूनतम तापमान माइनस 1 डिग्री, जबकि अधिकतम तापमान 5 डिग्री दर्ज किया गया है. स्थानीय प्रशासन ने घाटी में लोगों और सैलानियों को नदी नालों से दूर रहने की सलाह दी है.

किसान और बागवानों के लिए बारिश और बर्फबारी संजीवनी से कम नहीं है, लेकिन कई जगह ओलावृष्टी की वजह से फसलों को नुकसान पहुंचा है. अभी 2 दिन तक ओलावृष्टि का अलर्ट जारी किया गया है और इससे मटर, फूलगोभी, बीन, शिमला मिर्च, टमाटर, हरी मिर्च को नुकसान होगा.

मौसम विभाग के मुताबिक, 21 मार्च तक मौसम इसी तरह रहेगा. प्रदेश के 10 जिलों में बारिश और ओलावृष्टि का येलो अलर्ट जारी किया गया है. इस समय प्रदेश में सबसे ज्यादा केलांग के तापमान में 5.7 डिग्री की गिरावट आई और अधिकतम तापमान लुढ़क कर 6.8 डिग्री तक पहुंच गया.

Leave a Reply