75 वर्ष बाद पहली बार हिमाचल दिवस पर काजा में मनाया जा रहा राज्यस्तरीय कार्यक्रम

227

शिमला : आप सभी को हिमाचल दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। हिमाचल राज्य के गठन के 75 वर्ष बाद काजा में शनिवार को राज्यस्तरीय हिमाचल दिवस कार्यक्रम पहली बार होने जा रहा है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में पहला प्रदेश स्तरीय हिमाचल दिवस कार्यक्रम स्पीति स्थित काजा में 15 अप्रैल को आयोजित करने का निर्णय लिया गया है।

सीएम सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों के लोग हर त्याेहार, उत्सव और राष्ट्रीय महत्व के कार्यक्रमों को नई उमंग से मनाते हैं।

लाहौल स्पीति जिला में 15,256 फुट की ऊंचाई पर स्पीति स्थित ताशीगंग मतदान केंद्र विश्व का सबसे ऊंचा मतदान केंद्र है।

लोकतंत्र के महोत्सव विधानसभा निर्वाचन-2022 में इस मतदान केंद्र पर शत-प्रतिशत लोगों ने मतदान किया, जो इस क्षेत्र के लोगों की देश के प्रति प्रतिबद्धता और कर्तव्यपरायणता का परिचायक है।

सुक्खू इस दौरान पुरानी धनकर मोनेस्ट्री, काजा मोनेस्ट्री और की-मोनेस्ट्री भी जा रहे हैं। सीएम ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के बजट में जनजातीय क्षेत्र विकास कार्यक्रम के तहत 857.14 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

इसके साथ-साथ जनजातीय क्षेत्र विकास कार्यक्रम के अंतर्गत केंद्रीय योजनाओं में 335 करोड़ रुपये का परिव्यय भी प्रस्तावित है।

प्रदेश सरकार ने वित्त वर्ष 2023-24 के बजट में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत सभी क्षेत्रों में वर्तमान में मिल रही मनरेगा दिहाड़ी को 212 रुपये से बढ़ाकर 240 रुपये करने की घोषणा की है।

जनजातीय क्षेत्रों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए मुख्यमंत्री ने इन क्षेत्रों में मनरेगा के तहत मिलने वाली दिहाड़ी को 266 रुपये से बढ़ाकर 294 रुपये करने की घोषणा की है।

Leave a Reply