धर्मशाला जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी को तैयार, रिसर्च एंड इन्नोवेशन इनिशिएटिव गैदरिंग के तहत नवाचारों पर होगी चर्चा

81

धर्मशाला : जी-20 शिखर सम्मेलन की मेज़बानी के लिए धर्मशाला में तैयारियां तेज कर दी गई हैं। जी-20 के तहत 19-20 अप्रैल को धर्मशाला में होने वाली इस बैठक में ‘रिसर्च एंड इन्नोवेशन इनिशिएटिव गैदरिंग‘ विषय के तहत नवीनतम अनुसंधान और नवाचारों पर चर्चा होगी।

इसमें विश्व के अनेक देशों के टॉप साइंटिस्ट, नीति निर्माता और विशेषज्ञ भाग लेंगे। हिमाचल आगमन पर सभी मेहमानों का भव्य स्वागत किया जाएगा। यह बात उपायुक्त डा. निपुण जिंदल ने सम्मेलन की तैयारियों की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक में कही।

उपायुक्त ने सभी विभागों को व्यवस्थित और भव्य रूप में शिखर सम्मेलन आयोजित करने को लेकर समय रहते अपनी तैयारी पूरी करने के निर्देश दिए।

डा. निपुण जिंदल ने कहा कि यह गौरव की बात है कि धर्मशाला को जी-20 की बैठक के लिए चुना गया है। यह मौका मेहमानों को हिमाचल की सांस्कृतिक विशिष्टता, विविधता और सुंदरता से रू-ब-रू कराने का अवसर देगा।

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त सौरभ जस्सल, रोहित राठौर, सुभाष गौतम, शिल्पी बेक्टा, हितेश लखनपाल, धीरेंद्र कुमार, डॉ. सुशील सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

18 से 21 तक रहेंगे दुनियाभर के 70 प्रतिनिधि

उपायुक्त ने कहा कि सम्मेलन के लिए दुनिभाभर के 70 प्रतिनिधि 18 अप्रैल को धर्मशाला पहुंच जाएंगे। 19 को बैठकों का आयोजन होगा और रात को मेहमानों के लिए एचपीसीए में ‘गाला डिनर’ का आयोजन प्रस्तावित है।

इस दौरान प्रदेश की समृद्ध संस्कृति की झलक दिखाने के लिए विविध सांस्कृतिक नृत्य एवं संगीत कार्यक्रम का आयोजन भी रहेगा।

20 अप्रैल को प्रतिनिधि सीएसआईआर पालमपुर तथा अंदरेटा के भ्रमण पर रहेंगे। 21 अप्रैल को उनकी कांगड़ा हवाई अड्डे से वापसी होगी।

जी-20 थीम पर सजावट

उपायुक्त ने कहा कि शिखर सम्मेलन को लेकर जी-20 थीम की तर्ज पर सजावट की जाएगी। गगल से धर्मशाला और पालमपुर के पूरे रूट को सजाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांगड़ा एयरपोर्ट पहुचंने पर मेहमानों का पारंपरिक तरीके से स्वागत होगा।

कांगड़ा एयरपोर्ट की साज सज्जा के अलावा नेशनल हाइवे तथा राज्य सडक़ों के दोनों ओर ब्रैंडिंग और भवनों की सजावट का काम किया जाएगा। वहीं चौक चौराहों पर जी-20 लोगों की प्रतिकृति स्थापित की जाएंगी।

Leave a Reply