हिमाचल प्रदेश में 31 मार्च तक परिवहन सेवाएं हुईं बंद

शिमला : कोरोना वायरस के खौफ के चलते हिमाचल प्रदेश में रविवार को कांगड़ा में लॉकडाउन करने के फैसले के बाद अब राज्य सरकार ने सरकारी और निजी बसों  के संचालन पर भी रोक लगा दी है. इस संबंध ने रविवार देर शाम नोटिफिकेशन जारी कर दी. इस दौरान निजी वाहन केवल आपात हालात में चल पाएंगे. हिमाचल में प्रदेश में कोरोना वायरस के दो मामले अब तक सामने आए हैं. दोनों ही मामले कांगड़ा जिले में रिपोर्ट हुए हैं. हिमाचल में स्कूल और शैक्षणिक संस्थान पहले ही 31 मार्च तक बंद करने के आदेश हैं.

31 तक बंद रहेगी सेवा

जानकारी के मुताबिक, सरकार ने 31 मार्च तक परिवहन सेवाओं को बंद करने का फैसला लिया है. इससे पहले, शनिवार को सरकार ने बस रूटों में 50 फ़ीसदी कटौती की थी, लेकिन अब 100 फ़ीसदी रूटों को बंद कर दिया गया है. हिमाचल के मुख्य सचिव अनिल खाची की ओर से आदेश जारी किए गए हैं. एक अनुमान के अनुसार, सूबे में हिमाचल पथ परिवहन निगम की करीब 3500 बसों के 3100 से रूट हैं, जबकि निजी बसों का यह आंकड़ा 4000 से ज्याहा है.

आपात स्थिति में चलेंगे निजी वाहन

सरकार ने अपने आदेशों में कहा कि 31 मार्च तक सूबे में प्राइवेट और सरकारी बसें नहीं चलेंगी. इस दौरान सरकारें बसें ना तो लोकल रूटों पर चलेंगी और ना हीं सूबे से बाहर जाएंगी. इस दौरान निजी वाहन केवल आपात हालात में चल पाएंगे.

पहले काँगड़ा में हुआ लॉकडाउन

इससे पहले सरकार ने कांगड़ा जिले को लॉकडाउन करने के आदेश दिए हैं. लॉकडाउन के दौरान कांगड़ा जिले में लोगों को घरों में ही रहने के आदेश दिए गए हैं. आदेशों में कहा गया है कि वे केवल जरूरी वस्तुओं की खरीद करने या जरूरी सेवाओं के लिए ही घरों से निकल सकेंगे.

अब तक आए दो मामले

हिमाचल में प्रदेश में कोरोना वायरस के दो मामले अब तक सामने आए हैं. दोनों ही मामले कांगड़ा जिले में रिपोर्ट हुए हैं. कांगड़ा में 63 साल की महिला और 32 साल के युवक में यह वायरस पाया गया है. इसी वजह से सरकार ने कांगड़ा जिले को लॉकडाउन करने का ऐलान किया है. हिमाचल में स्कूल और शैक्षणिक संस्थान पहले ही 31 मार्च तक बंद करने के आदेश हैं.

Comments

comments

Leave a Reply