वन डे मैच के लिए 10 मार्च को धर्मशाला पहुंचेंगे खिलाड़ी

धर्मशाला : भारत और दक्षिण -अफ्रीका के बीच एक दिवसीय मैच 12 मार्च को धर्मशाला में होने जा रहा है. इस मैच की सुरक्षा का जिम्मा प्रदेश पुलिस के 900 जवान सम्भालेंगे. मैच की सुरक्षा हेतु आंतरिक और बाहरी सुरक्षा घेरा बनाया जाएगा. मैच ड्यूटी के लिए प्रदेश की विभिन्न बटालियनों से प्रदेश पुलिस के जवान 9 मार्च को धर्मशाला पहुँच जाएंगे.

12 मार्च हो होगा पहला वन डे

धर्मशाला के सबसे खूबसूरत अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में आगामी 12 मार्च को भारत और दक्षिणी अफ्रीका के बीच सीरीज का पहला मैच खेला जा रहा है.

6 सेक्टरों में बंटेगा शहर

खिलाड़ियों और स्टेडियम की सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पूरा शहर 6 सेक्टरों में बांटा जाएगा. मैच के दौरान शहर में आने वाले वाहनों की चेकिंग के लिए शहर के प्रवेश द्वारों सकोह,शिला चौक,सराह रोड़ तथा बस स्टैंड के नजदीक चड़ी रोड़ पर नाकाबंदी की जाएगी.

टिकट ब्लैक करने वालों पर रहेगी कड़ी नजर

धर्मशाला में होने जा रहे एक दिवसीय वन डे मैच के दौरान टिकट ब्लैक करने वाले गिरोह पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी. गौर हो कि धर्मशाला में पिछले मैचों के दौरान गुप्तचर विभाग ने टिकट ब्लैक करने वाले गिरोह को दबोचा था. ऐसे में पुलिस सहित अन्य जांच एजेंसियां ऐसे गिरोहों पर कड़ी नजर रखेगी.

यहाँ होगी पार्किंग व्यवस्था

मैच के दौरान दर्शकों के वाहनों की पार्किंग के लिए व्यवस्था की जाएगी.इसके लिए सिद्धबाड़ी स्थित जोरावर स्टेडियम,दाड़ी मैदान,पुलिस मैदान,पुलिस लाइन,साईं पार्किंग और कालेज मैदान सहित अन्य स्थानों पर पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी.दाड़ी और जोरावर स्टेडियम से दर्शकों को मैदान तक पहुँचाने के लिए शटल बसों का इंतज़ाम किया जाएगा.

इस सड़क आवाजाही रहेगी बंद

मैच के दौरान दाड़ी आईटीआई से स्टेडियम तक जाने वाली सड़क पर आम वाहनों के लिए आवाजाही रहेगी बंद रहेगी. इस संपर्क मार्ग से केवल खिलाड़ियों के वाहनों को ही गुज़ारा जाएगा.

यातायात व्यवस्था के लिए तैयार हो रहा प्लान

एसपी काँगड़ा विमुक्त रंजन का कहना है कि धर्मशाला में 12 मार्च को होने वाले एकदिवसीय मैच के दौरान लगभग 900 जवानों की तैनाती की जा रही है. शहर में यातायात व्यवस्था को लेकर भी प्लान तैयार किया जा रहा है ताकि मैच देखने के लिए आने वाले दर्शकों को परेशानी का सामना न करना पड़े.

Comments

comments

Leave a Reply