कई बीमारियों का इलाज है बिच्छू बूटी की चाय, चंबा के छात्र ने पेश किया मॉडल

46

आईआईटी मंडी में जारी चार दिवसीय चिल्ड्रन साइंस कांग्रेस में नए वैज्ञानिक एक से बढ़कर एक मॉडल लेकर आए हैं। हिमाचल प्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद की ओर से आयोजित इस 30वीं चिल्ड्रन सांइस कांग्रेस में प्रदेश भर से 600 प्रतिभागी भाग ले रहे हैं।

प्रदेश के दूरदराज के जिला चंबा के सलूणी ब्लॉक के पैरामाऊंट पब्लिक स्कूल किहार के छात्रों द्वारा बिच्छु बूटी से चाय बनाने का मॉडल पेश किया गया है।

बिच्छू बूटी यानि नेटल लीफ से बनने वाली इस चाय की खास बात यह है कि यह भाप के माध्यम से तैयार की जाती है। इतना ही नहीं दावा किया जा रहा है कि ये चाय ब्लड प्रेशर, शुगर साहित 16 बीमारियों को करती है।

स्कूल के छात्र नीरज ठाकुर बताया कि उनके शिक्षक डा. रियाज जो बायोलॉजी में पीएचडी हैं की प्रेरणा से बिच्छू बूटी की चाय बनाने का तरीका ईजाद किया है। सबसे पहले बिच्छू बूटी के पत्तों को सुखाया जाता है।

चाय बनाने के लिए प्रेशर कुकर में बिच्छू बूटी के पत्तों को पानी डाला जाता है। कुकर की सीटी खोलकर उसमें एक नली लगाकर भाप के माध्यम से एक पात्र में बिच्छू बूटी का रस भाप के माध्यम से इक्टठा करते हैं। इस रस में शहद मिलाकर स्वादिष्ट एवं स्वास्थ्यवर्धक चाय तैयार बनाई जा सकती है।

Leave a Reply