एचपीयू ने स्थगित की आज की परीक्षा,बाकी परीक्षाओं पर आज फैसला संभव

कालेजों में सोमवार से शुरू हुई अंडर ग्रेजुएट फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाओं पर छाया संकट एक दिन के लिए टल गया है। दिन भर माथापच्ची के बीच हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय ने सोमवार देर रात मंगलवार को आयोजित होने वाली परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला ले लिया। हालांकि एचपीयू ने यह स्पष्ट किया कि यह परीक्षाएं 18 अगस्त यानी एक दिन के लिए ही स्थगित होगी। बाकी परीक्षाओं पर फैसला मंगलवार को संभव है, जिसकी सूचना जल्द ही दे दे जाएगी।

एचपीयू परीक्षा नियंत्रक डा. जेएस नेगी की ओर से जारी एक प्रेस नोट में बताया गया कि कोर्ट के निर्देशों के अनुसार मंगलवार की परीक्षा स्थगित कर दी गई हैं। 18 अगस्त के बाद होने वाली बीए, बीएससी और बीकॉम के अंतिम सत्र की परीक्षाओं की जानकारी जल्द ही सार्वजनिक कर दी जाएगी।

इससे पहले शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि सरकार को एसपीएल दायर कर अब कोर्ट की डबल खंडपीठ में क्या फैसला होता है, उसके बाद ही आगामी फैसला लिया जाएगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

ऐसे में अब बुधवार का कोर्ट में होने वाली सुनवाई में क्या फैसला होता है, यह देखना अहम होगा। दरअसल हाई कोर्ट से मिले आदेशों का पालन कैसे करें, इस पर सरकार सोमवार को पूरा दिन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद भी कोई निर्णय नहीं ले पाई।

उधर, छात्रों से लेकर कालेज प्रशासन के पास भी एचपीयू, शिक्षा विभाग व सरकार के आदेश न मिलने तक एक हड़कंप मचा रहा। हालांकि देर शाम तक शिक्षा मंत्री ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक ली। इस बैठक में फिलहाल फैसला लिया गया कि मंगलवार को होने वाली दूसरी परीक्षा जारी रहेगी, लेकिन देर रात एचपीयू के प्रेस नोट में कहा गया कि सिर्फ मंगलवार की परीक्षाएं स्थगित की गई हैं।

बता दें कि कोरोना महामारी के बीच में शुरू हुई यूजी की परीक्षाएं, परीक्षा केंद्रों पर थर्मल स्कैनिंग के बाद छात्रों को प्रवेश दिया गया। कोरोना महामारी के बीच सोमवार से स्नातक अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं शुरू हो गई है। अंतिम सेमेस्टर के साथ रि अपीयर (कंपार्टमेंट) की परीक्षाएं भी एचपीयू की ओर से कोविड संकट के बीच में करवाई जा रही है।

प्रदेश में करीब 37 हजार विद्यार्थी परीक्षा के लिए बनाए गए 153 परीक्षा केंद्रों में परीक्षा दे रहे है। रविवार को अवकाश के दिन कॉलेजों में तैयारी को अंतिम रूप दिया गया और परीक्षा केंद्रों को सेनेटाइज किया गया, जिसके बाद सोमवार को परीक्षा केंद्रों में यूजी की परीक्षाएं करवाई गई। पहले दिन अंतिम सेमेस्टर के संगीत और गणित विषय का पेपर परीक्षा केंद्रों में करवाया जा रहा है।

पहले दिन सोमवार को चौथे सेमेस्टर के रि अपीयर में पर्यटन व पेंटिग और दूसरे सेमेस्टर के संस्कृत और जूलॉजी की परीक्षा करवाई जा रही है। सुबह आठ बजे ही छात्र कालेजों में पहुंचने शुरू हो गए और गेट पर छात्रों के हाथों को सेनिटाइज करवाने ओर थर्मल स्कैनिंग करने के बाद ही प्रवेश कॉलेज के अंदर दिया गया।

वहीं जिस स्टॉफ की ड्यूटी परीक्षा केंद्रों पर लगाई गई थी, वह स्टॉफ भी भी दस्ताने, मास्क पहनकर ही ड्यूटी पर पहुंचे। हर एक घंटे बाद हाथों को सेनेटाइज करने का प्रवाधान रखा गया था। शारीरिक दूरी के नियम को देखते हुए सीटिंग प्लान बनाया गया था ओर दो मीटर की दूरी छात्रों के बीच परीक्षा केंद्र में रखी गई है।

परीक्षा केंद्र में छात्रों के भी हर एक घंटे बाद हाथ सेनेटाइज करवाये जा रहे है। शिक्षा विभाग और विश्वविद्यालय की गाइडलाइन के मुताबिक ही परीक्षाएं सभी कालेजों में करवाई गई। छात्रों का टेंपरेचर चेक करने और सेनेटाइज करने के बाद ही कालेज में आने दिया गया, और परीक्षा हॉल में सामाजिक दूरी को ध्यान में रखा जा रहा है।

जहां पहले 200 बच्चे एक हॉल में परीक्षा देने के लिए बैठते थे, वहां  60 बच्चें ही बैठाए गए हैं । इसी तरह की व्यवस्था शिमला के हर एक कॉलेज में की गई थी। प्रदेश के सेंटर फॉर एक्सीलेंस कालेज संजौली में भी छात्रों के गेट पर ही साथ सेनेटाइज करवाए गए और थमर्ल स्केनिंग करने के बाद ही छात्रों को प्रवेश परीक्षा केंद्र में दिया गया।

Comments

comments

Leave a Reply