पहाड़ों पर बर्फबारी व मैदानों में बारिश का दौर ज़ारी

मंडी : प्रदेश में मौसम के एक बार फिर से करवट लेने के चलते तापमान में गिरावट आ गई है। मौसम के बदलते रुख के कारण लोगों को फिर से गर्म कपड़े निकालने के लिए मजबूर होना पड़ा है। शुक्रवार रात से हो रही मूसलाधार बारिश का दौर शनिवार को भी पूरा दिन चलता रहा। आसमान पर काले बादल और ठंडी हवाओं के चलने से ठंड बढ़ गई है। ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी व निचले क्षेत्र में बारिश होने से जिला मुख्यालय में ठंड बढ़ गई है।

जिला मंडी में शुक्रवार से रिमझिम बारिश होने से पारा लुढ़क गया है। बारिश होने से किसानों ने राहत की सांस ली है। बल्ह घाटी समेत पूरे जिला में इस समय टमाटर, बैंगन, खीरा, भिंडी, घीया व शिमला मिर्च आदि की पौध तैयार हो रही है, जो कि सूखे के कारण मुरझाने की कगार पर पहुंच गई थी। उन्हें बारिश होने से संजीवनी मिल गई है।

 

 

 

 

 

 

 

बागबानों के चेहरे भी खिल गए हैं। मंडी के स्थानीय निवासी ओम प्रकाश ने बताया कि बारिश न होने के कारण किसानों की पिछली फसलें तबाह हो गई है, लेकिन जो किसानों ने अब सब्जियों की फसलों की बिजाई की थी। उन्हें बारिश होने से राहत मिली है। बारिश होने से लोगों को गर्मी से भी राहत मिली है।

तापमान में बार-बार गिरावट आने के कारण लोग सर्दी, जुकाम, बुखार व खांसी आदि बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। इससे बचने के लिए सतर्कता बरतनी जरूरी है। कई लोगों की इम्युनिटी भी कम होती है, जिसकी वजह से वे मौसम के बदलने पर सबसे ज्यादा बीमार हो जाते हैं।

सर्दी से बचने के लिए संतुलित आहर का सेवन करना भी जरूरी है। इस बार पर्याप्त मात्रा में बारिश नहीं होने से किसान-बागबान काफी ङ्क्षचतित हैं। सूखे की स्थिति पैदा होने से वे अपने खेतों की बिजाई नहीं कर पा रहे हैं, लेकिन इस बारिश से किसानों-बागबानों ने थोड़ी राहत महसूस की है।

Comments

comments

Leave a Reply