मंडी जिला में तेजी से बढ़ने लगे कोरोना के मामले

मंडी जिला में कोरोना ने फिर से रफ्तार पकड़ना शुरू कर दी है। जिला मंडी में पूरे प्रदेश के मुकाबले सबसे तेजी से फिर से कोरोना संक्रमण के मामले बढऩा शुरू हो गए हैं। हालांकि जिला में 70 फीसदी जनता को कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जा चुका है, लेकिन इसके बाद भी जिला में कोरोना पाजिटिविटि रेट 6.6 फीसदी हो गई है।

जिला में इस समय एक्टिव मामले 380 से ऊपर चले गए हैं। बुधवार को भी जिला में एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि सात बच्चों सहित कोरोना संक्रमण के 73 नए मामले सामने आए हैं। बीते चार पांच दिनों से अब हर रोज कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी देखी जा रही है। चिंता जनक बात यह है अन्य जिलों के मुकाबले मंडी जिला में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। जिसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की चिताएं भी बढ़ गई हैं।

वहीं बुधवार को कोरोना संक्रमित समखेतर निवासी 40 युवक की भी नेरचौक मेडिकल कालेज में मौत हो गई है। बुधवार को जिला भर में 883 लोगों की कोरोना संक्रमण को लेकर जांच की गई। जिसमें 73 लोग कोरोना संक्रमित निकले हैं। जिसमें जिला के विभिन्न हिस्सों से तीन वर्ष से लेकर 13 वर्ष तक के भी सात बच्चे पाजिटिव निकले हैं।

इसके साथ हाइड्रो प्रोजेक्ट लोहारड़ी के 6 कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित हैं। इसके अलावा करसोग उपमंडल के पांगणा, करसोग, माहूनाग, मरोथी और अन्य हिस्से से भी कई लोग कोरोना संक्रमित निकले हैं। इसके साथ ही पंडोह, सूहड़ा मोहल्ला, भंगरोटू, गोपालपुर, आईआईटी कमांद, जिमजिमा जोगिंद्रनगर, मुलथान, सीसे स्कूल भंगरोटू, नीहरी, टारना हिल मंडी, बैहना,भ्यूली और मंडी अस्पताल में भी कोरोना पाजिटिव मिले हैं।

वहीं सीएमओ मंडी देवेंद्र शर्मा ने बताया कि मंडी जिला में बड़ी तेजी से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। जो कि चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि लोग कोरोना से बचाव के उपायों का पालन नहीं कर रहे हैं। जिससे फिर से कोरोना ने पांव पसारना शुरू कर दिए हैं।

Comments

comments

Leave a Reply