18 वर्ष से ऊपर के लोगों को भी मुफ्त लगेगी कोरोना वैक्सीन

टीकाकरण के राष्ट्रव्यापी अभियान के बीच जयराम सरकार 18 साल से ऊपर के लोगों को मुफ्त कोरोना टीका लगाएगी। इसके अलावा होम आइसोलेशन कोरोना मरीजों को राज्य सरकार न्यूट्रीशन किट प्रदान करेगी। इसमें फ्रूट, जूस और सूप के अलावा इम्यूनिटी बूस्टर खाद्य पदार्थ शामिल होंगे।

यह अहम फैसला प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया है। कैबिनेट ने टीकाकरण अभियान को और तेज करने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग को जागरुकता अभियान चलाने को कहा है। इसी बीच फैसला हुआ है कि कंपनियों से कोरोना वैक्सीन की सरकारी व निजी क्षेत्र को 50ः50 अनुपात में आपूर्ति होगी।

इस आधार पर सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में प्रदेश के लोगों को मुफ्त टीका लगेगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में गुरुवार को आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक में  राज्य की कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की गई। बैठक में फैसला लिया गया कि प्रदेश सरकार के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी टीकाकरण के लिए आगे आएंगे। जहां तक संभव हो, सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में कोविड का टीका लगाएंगे।

होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड-19 रोगियों को बेहतर उपचार सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से खंड स्तर पर मोबाइल टीमें गठित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा गंभीर रूप से बीमार लोगों को बड़े अस्पतालों में स्थानांतरित करने के लिए एक वाहन विशेष रूप से उपलब्ध करवाया जाएगा। प्रत्येक मेडिकल कालेज में कोविड-19 मामलों की निगरानी के लिए वरिष्ठ चिकित्सक की अगवाई में एक समर्पित टीम तैनात की जाएगी। (एचडीएम)

आउटसोर्स कर्मियों को प्रति शिफ्ट 200 रुपए 

शिमला। कोविड में सेवाएं दे रहे आउटसोर्स कर्मचारियों को हिमाचल सरकार 200 रुपए प्रति शिफ्ट इन्सेंटिव प्रदान करेगी। इसके अलावा आठ साल का कार्यकाल पूरा करने वाले पार्ट टाइमर को डेलीवेजर्स बनाया जाएगा। पांच साल पूरा कर चुके दैनिक भोगियों और तीन साल से सेवाएं दे रहे अनुबंध कर्मचारियों को नियमित किया जाएगा।

यह अहम फैसला जयराम मंत्रिमंडल ने गुरुवार को पीटरहाफ में आयोजित बैठक में लिया है। इस दौरान प्रदेश में दो विकास खंड अधिकारियों और सेरीकल्चर बालीचौकी में विभिन्न श्रेणियों के 19 पद भरने की अनुमति दी है। इसके अतिरिक्त अन्य विभागों में भी भर्तियों की मंजूरी प्रदान की गई है।

जयराम मंत्रिमंडल ने उन दैनिक/कंटींजेंट कार्यकर्ताओं की सेवाएं नियमित करने का निर्णय लिया, जिन्होंने 31 मार्च, 2021 को अपने निरंतर सेवाकाल के पांच वर्ष पूरे कर लिए हैं अथवा 30 सितंबर, 2021 को पूरा करने जा रहे हैं। बैठक में विभिन्न विभागों में कार्यरत उन अनुबंध कर्मचारियों के सेवाकाल को नियमित करने का निर्णय लिया गया, जिन्होंने 31 मार्च, 2021 को तीन वर्ष का सेवाकाल पूरा किया है अथवा जिनका सेवाकाल 30 सितंबर, 2021 को पूरा होने जा रहा है। मंत्रिमंडल ने उन अंशकालिक कार्यकर्ताओं की सेवाओं को विभिन्न विभागों में दैनिकभोगी के रूप में परिवर्तित करने का भी निर्णय लिया, जिन्होंने 31 मार्च, 2021 को आठ वर्ष का निरंतर सेवाकाल पूरा कर लिया है अथवा 30 सितंबर, 2021 को पूरा करने जा रहे हैं।

मंत्रिमंडल ने मंडी जिला के बालीचौकी में राज्य सेरी उद्ययमिता विकास नवाचार केंद्र में तकनीकी और मिनिस्ट्रीयल स्टाफ के 19 पद भरने का निर्णय लिया, ताकि हाल ही में खोले गए इस केंद्र का कार्य सुचारू रूप से चल सके। बैठक में ग्रामीण विकास विभाग में सीधी भर्ती के माध्यम से खंड विकास अधिकारी के दो पद भरने को स्वीकृति प्रदान की गई।

मंत्रिमंडल ने विभिन्न श्रेणी के 26 पद सृजित करने के साथ मंडी जिले की धर्मपुर तहसील के अंतर्गत बरोटी में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान खोलने को संस्तुति प्रदान की गई। मुख्यमंत्री और मंत्रिमंडल के अन्य सदस्यों ने बैठक के दौरान मुख्यमंत्री कोविड फंड के लिए अपने एक माह के वेतन का अंशदान किया। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मुख्य सचिव अनिल खाची को चेक भेंट किए।

Comments

comments

Leave a Reply