दर्दनाक हादसा : आधी रात भू-स्खलन में दबा घर, छह जिंदा दफन, मरने वालों में पति-पत्नी, तीन बच्चे और भानजी

66

नागरिक उपमंडल शिलाई के रोनहाट में आधी रात को भू-स्खलन की चपेट में आने से घर के अंदर सोया हुआ छह सदस्यों का परिवार मौत की नींद सो गया। मरने वालों में पति-पत्नी और उनके तीन बच्चे व एक भानजी शामिल हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक रोहनाट के समीप खिजवाड़ी गांव के राक्सोड़ी में आधी रात को एक मकान उस समय भू-स्खलन की चपेट में आ गया, जब घर के सभी सदस्य गहरी नींद में सो रहे थे। चूंकि हादसा रात के समय पेश आया, लिहाजा किसी को भी इसकी भनक नहीं लगी।

सुबह एक स्थानीय व्यक्ति जब वहां से गुजर रहा था, तो उसे चिल्लाने की आवाज सुनाई दी। इसके बाद उसने गांव के अन्य लोगों को इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और राहत बचाव कार्य शुरू कर दिया।

बताया जा रहा है कि तीन बच्चों सहित एक महिला की मौके पर ही मौत हो चुकी थी, जबकि एक छह साल की बच्ची अमीषा व घर के मुखिया 30 साल के प्रदीप को सुरक्षित बाहर निकाला गया था।

हालांकि बाद में इन दोनों ने भी अस्पताल में दम तोड़ दिया। हादसे में मरने वालों में प्रदीप पुत्र दौलत राम , उसकी पत्नी ममता (27), बेटियां इशिता (8), अमीषा (6) और एरंग (2) तथा प्रदीप की भानजी अकांशिका (7) पुत्री तुलसी राम निवासी हलाहं, शिलाई के रूप में हुई है।

अकांशिका इन दिनों मामा के घर आई हुई थी। उधर, पांवटा साहिब के डीएसपी वीर बहादुर ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि मामला दर्ज करके मृतकों के शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। (एचडीएम)

यह भी पढ़ें :-

सप्ताह के अंत तक विदा हो सकता है मानसून, बारिश-बर्फबारी का दौर थमा

Leave a Reply