हिमाचल में रविवार को बंद रहेंगी दुकानें और बस सेवा

शिमला : कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप को देखते हुए हिमाचल में 22 मार्च को जनता कर्फ्यू रहेगा। हिमाचल में इस दिन सभी दुकाने बंद रहेंगी। हिमाचल प्रदेश व्यापार मंडल ने कोरोना वायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का जो आह्वान किया है, उसका पूरा समर्थन किया है। प्रदेश व्यापार मंडल अध्यक्ष सोमेश शर्मा ने कहा कि जनता कर्फ्यू के दौरान मेडिकल शॉप खुली रहेंगी। इसके अलावा जरूरी सामान की दुकानों को छोड़कर शेष सभी दुकानें बंद रहेंगी।कोरोना के खौफ के चलते हिमाचल सरकार ने बाहरी राज्यों के लिए वोल्वो बस सेवाएं बंद कर दी हैं। पथ परिवहन निगम ने अपनी बस सेवाओं के लिए चलाई जा रही ऑनलाइन बसों की बुकिंग को भी बंद कर दिया है।

स्वस्थ रहें सतर्क रहें

प्रदेश व्यापार मडल के अध्यक्ष सुमेश शर्मा ने कहा सभी स्वस्थ रहें और सतर्क रहें, इसके लिए हिमाचल प्रदेश व्यापार मंडल के सभी व्यापारियों ने इस बंद में भाग लेने का निर्णय लिया था। उन्होंने सभी व्यापारियों से आह्वान किया है कि वह 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान दुकानें बंद रखें, घरों में रहें और इस कोरोना वायरस से निपटने के लिए कार्य करने वालों का प्रोत्साहन करने के लिए आभार व्यक्त करने के लिए पांच बजे सभी करतल ध्वनि जरूर करें। उन्होंने कहा कि व्यापारी वर्ग सदैव जनता के साथ खड़ा है और सरकार के निर्देशों का भी पालन कर रहा है।

डरे नहीं जनता

उन्होंने कहा कि जनता कहीं भी डरे नहीं और इस महामारी से निपटने में व्यापारी वर्ग पूरी तरह से अपना सहयोग करेगा। व्यापारी हर मोर्चे पर खड़े रहे हैं और सदैव स्थितियों का मुकाबला किया है, वर्तमान में भी व्यापारी वर्ग सब को जागरूक करते हुए इस महामारी से निपटने में पूरा सहयोग करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों के व्यापार मंडलों से आग्रह है कि वह जनता कर्फ्यू को लेकर जागरूकता फैलाएं और अपना सहयोग करें।

मिलेगा जरूरी सामान

प्रदेश व्यापार मडल अध्यक्ष सोमेश शर्मा ने कहा कि जनता कर्फ्यू के दौरान मेडिकल शॉप खुली रहेंगी। इसके अलावा जरूरी सामान की दुकानों को छोड़कर शेष सभी दुकानें बंद रहेंगी।

बाजारों में मंदी का दौर

प्रदेश में एक दिन के दौरान 400 से 500 करोड का कारोबार होता है, मगर कोरोना वायरस के सकंम्रण के बाद हिमाचल के बाजारों में मंदी का दौर छाया है। ग्राहक घर से नहीं निकल रहे है। प्रदेश में एक दिन में कारोबार लुढ़क कर 120 से 150 करोड तक पहुंच गया है।

देहरादून वाया चंडीगढ़ -शिमला रूट क्लब, दिल्ली वॉल्वो बंद

कोरोना संक्रमण के भय के चलते सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी के  चलते चंबा देहरादून रूट पर चलने वाली बस सेवा शुक्रवार को चंडीगढ़ देहरादून क्लब कर भेजी गई हैं। इसके अलावा चंबा दिल्ली चलने वाली वोल्वो बस सेवा गुरुवार से ही बंद है, वहीं चंबा शिमला वाया चंडीगढ़ जाने वाली बस सेवा को परवाणू के साथ क्लब कर भेजा गया है इसके अलावा चंबा दिल्ली के बीच चलने वाली एससी डिलक्स बस सेवा निर्धारित समय 4ः20 पर नहीं, 5ः40 पर भेजी गई है। उधर, चंबा हरिद्वार रूट पर दौड़ने वाली बस सेवा अभी भी चल रही है इसके अलावा पंजाब सहित अन्य राज्यों के लिए निर्धारित रूट की गाडि़यों भी पठानकोठ चक्की सेवाएं दे रही हैं। शनिवार से सभी तरह की इंटर स्टेट बसें बंद होने की संभावना है।

बाहरी राज्यों के लिए बंद हुई बस सेवा

कोरोना के खौफ के चलते हिमाचल सरकार ने बाहरी राज्यों के लिए वोल्वो बस सेवाएं बंद कर दी हैं। जो वोल्वो बसें सरकार की एक-दो दिन पूर्व मनाली से लंबे रूट्स पर निकली थी, उन्हें वापस बुलाया गया है। अब मनाली से वोल्वो बसें लंबे रूट्स पर नहीं दौड़ेगी। लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है। सरकार के आदेशों को मानते हुए हिमाचल पथ परिवहन निगम ने विश्व के प्रसिद्ध पर्यटन नगरी मनाली से बाहरी राज्यों के वोल्वो बसों की सेवाएं बंद कर दी है।

बंद रहेगी निजी परिवहन सेवा

प्रधानमंत्री द्वारा जनता र्क्फ्यू के आह्वान  के बाद एचआरटीसी ने हिमाचल में बसें न चलाने का निर्णय लिया है। रविवार को हिमाचल में एचआरटीसी की कोेई भी बस नहीं चलेगी। इतना ही नहीं, प्राइवेट बस आपरेटर भी इसमें साथ देंगे, जिनकी बसें भी इस दिन नहीं चलेंगी। राज्य सरकार द्वारा इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। पथ परिवहन निगम के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश निजी बस आपरेटर  यूनियन ने भी बसें न चलाने का फैसला लिया है।  कोरोना  के  खिलाफ  जनता र्क्फ्यू का समर्र्थन करते हुए प्रदेशवासी एकजुट हो गए हैं।

कोई भी वाहन नहीं चलेगा

हालांकि राज्य में इस दिन कोई भी वाहन नहीं चलेगा, मगर सरकार द्वारा आपदा के लिए जरूरी इंतजाम किए गए हैं। शनिवार को इंटर स्टेट रूटों पर एचआरटीसी की कोई भी लग्जरी बस नहीं चलेगी। इसके अलावा इंटर स्टेट रूटों पर यात्रियों को साधारण बस सेवा भी केवल मात्र 10 फीसदी ही मिल पाएगी। वहीं राज्य के भीतर भी बसों के संचालन को निगम द्वारा सीमित किया गया है। राज्य में भी 70 फीसदी तक ही बसें चल पाएंगी।

ऑनलाइन बुकिंग बंद

पथ परिवहन निगम ने अपनी बस सेवाओं के लिए चलाई जा रही ऑनलाइन बसों की बुकिंग को भी बंद कर दिया है। क्योंकि शनिवार व रविवार को बस सेवाएं प्रभावित होंगी, लिहाजा ऑनलाइन बुकिंग भी नहीं हो पाएगी।

टैक्सी यूनियन ने भी किया समर्थन

प्रदेश टैक्सी यूनियन ने भी  22  मार्च को जनता कर्फ्यू का समर्थन  किया है। प्रदेश टैक्सी यूनियन के  अध्यक्ष जीत राम शर्मा  ने बताया  कि सभी ऑपरेटर इस कर्फ्यू में भाग लेगें इस दिन कोई भी  टैक्सी  नहीं चलेगी।

Comments

comments

Leave a Reply