ताजा बर्फबारी से हिमाचल में बिगड़े हालात

शिमला : हिमाचल प्रदेश में मौसम ने रौद्र रूप धारण कर दिया है। राज्य के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सोमवार को फिर से बर्फबारी हुई है। निचले क्षेत्रों में बारिश के साथ दिन भर धुंध घिरी रही। बारिश-बर्फबारी के चलते समूचा राज्य प्रचंड शीतलहर की चपेट में चल रहा है। मौसम विभाग की मानें तो राज्य में मंगलवार को भी अनेक स्थानों पर भारी बारिश व बर्फबारी होगी। मौसम विभाग ने यलो अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि राज्य में नौ जनवरी तक मौसम खराब बना रहेगा।सोमवार देर शाम भारी बर्फबारी बीच मनाली-सोलंगनाला सड़क पर करीब 1200 पर्यटक फंस गए। प्रशासन को जैसे ही पर्यटकों के फंसे होने की सूचना मिली तो उसने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया, जो देर रात तक जारी था।

10 को होगा मौसम साफ़

10 जनवरी को मौसम साफ होगा, तो 11 व 12 जनवरी को फिर से बारिश व बर्फबारी होने की आश्ांका है। राज्य में सोमवार सुबह से ही बारिश व बर्फबारी का सिलसिला जारी हो गया था, जो दिन भर जारी रहा। राज्य के कुल्लू, मनाली, सिरमौर, किन्नौर, मंडी सहित शिमला के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में ताजा बर्फबारी रिकार्ड की गई है। सोमवार को कल्पा में 2.2 सेंटीमीटर और शिमला में 2.1 सेंटीमीटर बर्फबारी रिकार्ड की गई है। बीते 24 घंटों के दौरान भरमौर में पांच, कुफरी व केलांग में तीन और उदयपुर में एक सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई है।

दिनभर होती रही बारिश

इसके अलावा शेष हिमाचल में दिनभर बारिश होती रही। बारिश व बर्फबारी होने से अधिकतम तापमान में एक से सात डिग्री सेल्सियस की गिरावट रिकार्ड की गई है। ऊना के तापमान में सबसे ज्यादा सात डिग्री की गिरावट आंकी गई है। वहीं सोलन में पांच, बिलासपुर व हमीरपुर में चार, चंबा, डलहौजी, भुंतर व कल्पा के तापमान में दो डिग्री की गिरावट आई है। केलांग के बाद अब कल्पा का अधिकतम तापमान लुढ़क कर माइनस डिग्री में आ गया है। राज्य के कुफरी, डलहौजी, मनाली, कल्पा का न्यूनतम तापमान माइनस डिग्री में चल रहा है। शिमला का तापमान शून्य डिग्री में रिकार्ड किया गया है। राज्य में अधिकतम तापमान सामान्य से चार से पांच डिग्री और न्यूनतम तापमान एक से तीन डिग्री कम दर्ज किया गया है। तापमान में गिरावट आने से राज्य में जनता को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि मंगलवार को भी राज्य के अनेक स्थानों पर बारिश व बर्फबारी होगी। प्रदेश में नौ जनवरी तक मौसम खराब बना रहेगा। 10 जनवरी को मौसम शुष्क बना रहेगा, जबकि राज्य में 11 व 12 जनवरी को फिर से बारिश व बर्फबारी होगी।

मनाली में फंसे 1200 पर्यटक

सोमवार देर शाम भारी बर्फबारी बीच मनाली-सोलंगनाला सड़क पर करीब 1200 पर्यटक फंस गए। प्रशासन को जैसे ही पर्यटकों के फंसे होने की सूचना मिली तो उसने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया, जो देर रात तक जारी था। प्राप्त जानकारी के अनुसार मनाली से सोलंगनाला के लिए घूमने निकले सैकड़ों सैलानियों की दिक्कतें उस समय बढ़ गईं, जब देर शाम मनाली में भारी हिमपात शुरू हो गया। ऐसे में पर्यटकों ने सोलंगनाला से मनाली वापसी का रुख किया तो बीच रास्ते में सड़क पर बर्फ की मोटी चादर बिछ जाने से वाहनों को चलाना मुश्किल हो गया। देखते ही देखते मनाली-सोलंगनाला के बीच करीब 400 से अधिक पर्यटक वाहन फंस गए। स्थानीय लोगों व मीडिया ने जब प्रशासन को इस बारे  सूचना दी तो मनाली प्रशासन ने बर्फ में फंसे सैलानियों को सुरक्षित मनाली पहुंचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। हालात ये थे कि सोमवार देर रात को सैलानी वाहनों को छोड़ पैदल ही मनाली की तरफ चल पड़े।

प्रशासन ने किया रेस्क्यू

हालांकि प्रशासन ने फॉर व्हील ड्राइव वाहनों की मदद से सैलानियों को उक्त सड़क से रेस्क्यू करना शुरू किया और देर रात तक इस काम में जुटा रहा। प्रशासन ने बताया कि सभी सैलानी सुरक्षित हैं और उन्हें मनाली में सुरक्षित पहुंचाने के लिए युद्ध स्तर पर अभियान शुरू किया गया है। उधर, डीएसपी मनाली शेर सिंह ठाकुर ने कहा कि मनाली-सोलंगनाला सड़क पर फंसे पर्यटकों को रेस्क्यू किया जा रहा है और सभी पर्यटक सुरक्षित हैं। सभी पर्यटकों को प्रशासन द्वारा मनाली पहुंचाने के लिए रेस्क्यू आपरेशन युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया गया है। उधर, एसडीएम मनाली रमन घरसंगी ने कहा कि मौसम की परिस्थितियों पर नजर रखी जा रही है। बर्फबारी के बीच फंसे सैलानियों को रेस्क्यू किया जा रहा है।

Comments

comments

Leave a Reply